Kisi Ko Aakarshit Karne Ke Upay

Kisi Ko Aakarshit Karne Ke Upay

Kisi Ko Aakarshit Karne Ke Upay , ” Aajakal Har Kisi Ki Khvaahish Hoti Hai Ki Vo Logo Ko Apani Taraph Attract Kar Sake Aur Khaasakar Apojit Sex Ko Apni Taraph Aakarshit Karana To Har Insaan Ka Janmasiddh Adhikaar Maana Jaata Hai. Aise Mein Log KaI Tarah Ke Jatan Karate Rahate Hai, Taaki Log Unakee Taraph Aakarshit Ho Lekin Sabako Ek Jaise Parinaam Nahin Milate Hai.

यूं तो मंत्र और टोटके मन के विश्वास पर आजमाए जाते हैं लेकिन कुछ टोटके के बारे में तांत्रिकों का दावा है कि यह असर करते हैं और तत्काल असर करते हैं। जैसे यह टोटके जो किसी व्यक्ति विशेष को अपनी तरफ आकर्षित करने के लिए प्रयोग में लाए जाते हैं।

Kisi Ko Aakarshit Karne Ke Upay

यदि आपको कोई शत्रु अनावश्यक परेशान कर रहा हो तो एक भोजपत्र का टुकड़ा लेकर उस पर लाल चंदन से उस शत्रु का नाम लिखकर उसे शहद की डिब्बी में डुबोकर रख दें। आपका शत्रु आपके अहित नहीं कर पाएगा ।

इसी तरह यदि आपको किसी के मन में अपने लिए जगह बनानी है तो आप सच्चे मन से भगवान श्री कृष्ण का नाम लेते हुए उस जातक का नाम एक भोजपत्र के टुकडे पर लाल चंदन से लिखकर उसे शहद की डिब्बी में डुबोकर उस शीशी को बंद कर दें और नित्य जब भी आपके पास समय हो आप उस जातक को याद करते हुए उस शीशी को अपने दाहिने हाथ से सहलाएँ । इससे वह जातक चाहे स्त्री हो या पुरुष आपके प्रति प्रेम भाव रखने लगेगा ।

मान्यता है कि बैजयंति माला धारण करने से शत्रु भी मित्रवत हो जाते हैं। भगवान श्री कृष्ण ने यह माला पहनी हुई थी और उन्हें यह अतिप्रिय थी व उनमें सारे जगत को मोहित करने की अद्भुत क्षमता भी थी।

किसी को आकर्षित करने का टोटके

कई बार किसी स्त्री का पति किसी दूसरी और के प्रेम में फंस जाता है तो अपने घर को बचाने के लिए स्त्रियां यह प्रयोग करें । गुरुवार की रात 12 बजे पति के सर से थोड़े से बाल काटकर जला दें व बाद में उस राख को पैर से मसल दें इससे अवश्य ही पति जल्दी ही सुधर जाएगा।

शनिवार की रात्रि में 7 लौंग लेकर उस पर 21 बार जिसको अपने प्रभाव में करना हो उसका नाम लेकर फूंक मारें और अगले दिन रविवार को इनको आग में जला दें। यह प्रयोग लगातार 7 बार करने से अभीष्ट व्यक्ति आपकी बात माने लगता है । यह प्रयोग किसी बुरी भावना से अथवा किसी का अहित करने के लिए कदापि नहीं करना चाहिए ।

नोट :—इन प्रयोगो को उत्तर की ओर मुख करके मंत्र जप करने से सिद्धि प्राप्त होती है। इन प्रयोगो को सोमवार से आरंभ करने से सफलता मिलती है ।

यह प्रयोग दिवस के पहले प्रहर में, बसंत ऋतु में जो सूर्योदय से चार घंटे तक को माना जाता है में करना उत्तम रहता है। आकर्षण का प्रयोग नवमी, दशमी, एकादशी या अमावस्या को करना अत्यंत श्रेष्ठ रहता है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *