Gorakhnath Vashikaran Siddhi

Gorakhnath Vashikaran Siddhi
Spread the love
  • 7
    Shares

Gorakhnath Vashikaran Siddhi , ” Gorakhnath Ko Naathapanthiyon Ka Guru Maana Jaata Hai Yah Hathayogi Evam Siddh Purush The Ek Maanyata Ke Anusaar Gorakhnath Ko 84 Siddhiyaan Praapti Thi Jisamen Vashikaran Evam Jeevan Mein Sukh Suvidhaon Ko Praapt Karane Vaali Anek Siddhiyaan Thi Unhonne Anekon Saabar Mantron Ki Rachana Ki Aur Aam Janamaanas Ko Tantr Vidyaon Ka Gyaan Diya Jisase Pahale Log Avagat Nahin Hote The.

Gorakhnath Vashikaran Siddhi

गुरु गोरखनाथ के कुछ ऐसे मंत्र भी थे जिनके द्वारा यदि कोई व्यक्ति पर किसी भी प्रकार का वशीकरण या जादू टोना किया गया हो तो उन मंत्रो द्वारा समाप्त कर दिया जाता है यह सब मंत्र गुरु गोरखनाथ के ग्रंथ में मिलते हैं। यह भी कहा जाता है कि गुरु गोरखनाथ को सारे मंत्रों का ज्ञान स्वयं शिव जी से ही प्राप्त हुआ ।

गोरखनाथ वशीकरण सिद्धि

गुरु गोरखनाथ का वशीकरण मंत्र एवं तंत्र व विधाएं अत्यंत सरल है इसका उपयोग कर कोई भी आम मानस अपने जीवन को सफल बना सकता है वह किसी को भी मंत्रों द्वारा अपनी ओर सम्मोहित कर सकता है एवं इस साधना से उसमें असीम शक्तियां निवास करने लगती है। गोरखनाथ के ग्रंथों में अनेक तांत्रिक वैदिक अनुष्ठान ज्योतिषीय विश्लेषण एवं अनगिनत उपाय उनके द्वारा लिखे गए , कुछ लोग मानते हैं कि इनके ग्रंथों में सम्मिलित मंत्र स्वयं भगवान शिव के मुख से उच्चारित किए गए थे यह मंत्र अत्यंत तीव्र गति से प्रभाव करने वाले होते हैं एवं सभी प्रकार की सिद्धियों को प्राप्त कराने वाले होते हैं इन मंत्रों को सिद्ध करना अत्यंत सरल होता है और फल प्राप्ति की संभावना सर्वाधिक होती है।

वशीकरण

यदि आप किसी भी व्यक्ति को अपने वश में करके अपनी सभी इच्छाओं की पूर्ति करना चाहते हैं और उससे आप कुछ भी कराने की इच्छा रखते हैं तो इन मंत्रों के द्वारा आप किसी को भी अपने वश में कर सकते हैं अपने शत्रु को अपने वश में कर नष्ट कर सकते हैं अपने प्रेम को अपने वश में कर विवाह कर सकते हैं आप किसी भी असंभव कार्य को इस वशीकरण मंत्र द्वारा कर सकते हैं।

मंत्र

ॐ नमोहः भगवतीयः मातंगेश्वरी सर्वह मनः रंजनी सर्वषानः महातगे कुवरी के नंदः नंदः जिव्हे सर्व जगहः वश्यः मानयः स्वाहः

इस मंत्र का उपयोग प्रातः काल स्नान कर स्वच्छ होकर आसन बैठकर किया जाता है यह् साधना पूर्ण विधि विधान से करनी चाहिए इस मंत्र द्वारा आप सामूहिक वशीकरण भी कर सकते हैं पर याद रखें आप इसका उपयोग अपने स्वार्थ वश या किसी से बदला लेने की भावना से ना करें अन्यथा या क्रिया संपन्न नहीं होगी और आपको संपूर्ण फल की प्राप्ति नहीं होगी।

स्त्री वशीकरण 

गोरखनाथ के इन मंत्रों द्वारा तांत्रिक क्रियाओं द्वारा किसी को भी अपने वशीभूत किया जा सकता है और अपनी इच्छाओं की पूर्ति की जा सकती है यह मंत्र अत्यंत प्रभावशाली होते हैं ज्यादातर इन मंत्रों का उपयोग कन्या या स्त्री वशीकरण के लिए ही किया जाता है इन मंत्रों को पढ़ते समय एक स्थान पर बैठे-बैठे ही एक का नाम एवं दूसरे का नाम लिया जाता है जिससे व्यक्ति कहीं पर भी हो वह आपके वश में आ जाता है।

मंत्र

ॐ एक नमक़ रमतः मातः,

दूसरः नमक विरहः से आतः

तीसरः नमक़ औरी-बौरी,

चैथा नमक़ रहै कर् जौरी,

नमक़ अमुक एक् खाए,

दुसरः को छोड़ नहीं जाए,

दुहाई पीरः औलियः की,

जो कह सो सुनः

जो मांगे सो देह्

दुहाई गौरा पर्वतीहः की,

,दुहाई कामख्याहः की,

दुहाई गुरू गोरखनाथयः की,

जीवनसाथी को वश में करना

विवाह के बाद पुरुष चाहता है कि उसका जीवन साथी उसके वश में रहे और उसकी सभी इच्छाओं की पूर्ति करें एवं जीवन सुख सुविधाओं से संपूर्ण हो जाए उसके लिए गुरु गोरखनाथ का के ग्रंथों से उपाय किए जाते हैं यदि आप अपने जीवनसाथी को अपने वश में रखना चाहते हैं अर्थात उसका वशीकरण करना चाहते हैं तो एक पान का पत्ता लें और उसकी डंठल घिसकर तिलक करें आपके रिश्ते में मिठास प्रेम निष्ठा का संचार होगा यह उपाय प्रेमी-प्रेमिकाओं के लिए बहुत कारगर होता है ।

पति को वश में करना

हर स्त्री चाहती है कि उसका पति उसके वश में रहे एवं उसको ही प्रेम करें और घर में शांति बनी रहे। गृह-क्लेश अशांति ना हो यदि आपको किसी को पराई स्त्री से दुख हो , सौतन का दुख हो या पति द्वारा अन्य गतिविधियों में सम्मिलित होने का शक हो तो इस छोटे-से मंत्र द्वारा आप सभी समस्याओं को हल कर सकती और घर में शांति सुख अपना प्रेम वापस प्राप्त कर सकती हैं।

मंत्र

ॐ कामः मालिनी ठः ठः स्वाहः

 ॐ र्हीं क्लीं कलिकुंङ स्वामिनीह् अमृतः वक्रह् अमुक् जुमभयः मोहयः स्वाहः

अगर आप अपने पति को अपने वश में करना चाहते हैं तो प्रातः सुबह उठकर स्नान कर स्वच्छ होकर इन मंत्रों का 108 बार जप करने से सभी इच्छाएं पूर्ण होती है और पुरुष वशीकरण हो जाता है।

शाबर मंत्र

गुरु गोरखनाथ का शाबर मंत्र अत्यंत शक्तिशाली एवं प्रभावशाली है इसके द्वारा किसी भी तरह का वशीकरण किया जा सकता है इस मंत्र द्वारा साधना करना अत्यंत सरल है इसके लिए आपको रोजाना स्नान कर स्वच्छ होकर आसन बिछाकर 21 दिनों तक मंत्रों द्वारा साधना करनी होगी एवं गोबर के उपले को सुलाते हुए उसकी आग पर गूगल की आहुति डालते हुए 108 बार मंत्रो का जप करना चाहिए इससे यह मंत्र जागृत हो जाएगा एवं इस मंत्र द्वारा लाभ प्राप्त होने लगेगा।

मंत्र

ॐ गुर्वायः

डाऱ शाबर् जागे,

जागे अढ़ैयः बरार्ट

माऱ जगाया न जागः

तो तेरा नरक् कुंड ममः वासः

दुहाई शाबरी माईयः की

दुहाई शाबरनाथयः की,

आदेशः गुरुवर् की।

 

व्यापार वृद्धि के लिए

यदि आप अपना व्यापार बढ़ाना चाहते हैं या किसी तरह का व्यापार में धन फंसा है तो सफेद दूब और हरताल को पीसकर तिलक लगाने से आपका काम बन जाएगा एवं व्यापार में शत प्रतिशत वृद्धि होगी।


Spread the love
  • 7
    Shares

Leave a Reply

Specify Twitter Consumer Key and Secret in Super Socializer > Social Login section in admin panel for Twitter Login to work

Specify LinkedIn Client ID and Secret in Super Socializer > Social Login section in admin panel for LinkedIn Login to work

Specify GooglePlus Client ID and Secret in Super Socializer > Social Login section in admin panel for GooglePlus Login to work

Specify Instagram Client ID in Super Socializer > Social Login section in admin panel for Instagram Login to work

Your email address will not be published. Required fields are marked *